पत्रकार जनतंत्र के सजग प्रहरी सत्कार के उत्तर में राजेश काकड़े ने कहा

पत्रकार जनतंत्र के सजग प्रहरी
सत्कार के उत्तर में राजेश काकड़े ने कहा


नागपुर- जनतांत्रिक प्रणाली में ‘जनमत’ को सर्वोच्च स्थान प्राप्त है. इस लिहाज से जनता द्वारा निर्वाचित प्रतिनिधियों एवं गठित सरकारों के कार्यो पर पैनी नज़र रखने के लिए पत्रकारों को भारतीय संविधान में विशेष दर्जा दिया गया है, ताकी जनता के विश्वास को किसी प्रकार की कोई ठेस पहुंचने न पाए साथ ही जनता की समस्याओ का भी ईमानदारी से निराकरण होता रहे. लेकिन पत्रकारिता का स्तर, उस वक़्त दम तोड़ता नजर आता है, जब कुछ नामनिहाद कथित पत्रकार, चंद सिक्को की खातिर इस पवित्र पेशे के नाम पर असंवैधानिक और गैरकानूनी कार्यो को अपनाने से भी कतई गुरेज करते नही है. यह कथन है राष्ट्रीय जनसुराज्य पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष एवं सहकार तज्ञ राजेश बापूरावजी काकड़े के. उन्होंने पत्रकारों को जनतंत्र का सजग प्रहरी बताया और कहा कि विश्व के सबसे बड़े गणतंत्र ‘भारत’ का चौथा स्थम्भ स्वच्छ व निर्भीक पत्रकारिता ही है. श्री काकड़े अपने जन्म दिन के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे. इस मौके पर राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक लोकमंच वक्ता की ओर से राजेश काकड़े को पुष्पगुच्छ भेट कर सत्कार किया गया तथा उन्हें मुबारकबाद पेश की गई. सत्कार करने वालो में उक्त पत्र के प्रबंध संपादक सैय्यद मुजीब हसीब, पत्रकार मोहम्मद सिराजुद्दीन, रजत महेशग़ोरी, संदीप सत्यभैया, शोएब खान, किशोर शोरोते, करण गजभिये, धनराज वर्मा आदी मौजूद थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *