ये दोनों मुस्लिमों को मारने और दिल्ली को जलाने की धमकी दे रहे थे,दिल्ली पुलिस प्यार से बोली- हो गया न,अब आप लोग चले जाइए!

हमारे देश में पुलिस की छवि ऐसी है कि उसका नाम सुनते ही सुरक्षा का एहसास कम और डर ज्यादा लगने लगता है. जहन में लाठीचार्ज या आंसू गैस के गोले दागने वाली घटनाओं की तस्वीरें उभर आती हैं. लेकिन कभी-कभी इससे अलग वास्तविकता देखने को मिलती है. कुछ ऐसा ही हुआ है दिल्ली पुलिस के साथ. सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो में उसका एक ‘मासूम’ चेहरा सामने आया है. वीडियो में एक तरफ दो असामाजिक तत्व मुसलमानों और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भद्दी-भद्दी गालियां दे रहे हैं. वे दिल्ली को जलाने की बात कर रहे हैं. ठीक उसी समय उस जगह पर दिल्ली पुलिस की एक टीम मौजूद थी. लेकिन उसने गालियां देने वाले लोगों के साथ कुछ नहीं किया. बस पीछे से आकर कहा – ‘हो गया आप लोगों का.’

बताया गया है कि इस वायरल वीडियो को शनिवार को फेसबुक पर लाइव किया गया था. इसे देखकर जब लोगों ने फेसबुक पर रिपोर्ट किया, तब जाकर इसे हटाया गया. लेकिन ये यूट्यूब पर अब भी मौजूद है. वीडियो से जो जानकारी मिलती है, उससे पता चलता है कि इसे दिल्ली के मंगोलपुरी में बनाया गया है, जहां रिंकू शर्मा हत्याकांड के बाद पहले से तनाव बढ़ा हुआ है. इसमें उपद्रवियों की भाषा सुनकर इतनी हैरानी नहीं होती, जितना पुलिस का रवैया देखकर होती है. हमने 16 मिनट का वीडियो देखा. इसमें मुसलमानों और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को गाली देते हुए दो शख्स मंगोलपुरी इलाके में रिंकू शर्मा का घर खोज रहे हैं. वे मंगोलपुरी की गलियों में आपत्तिजनक बातें कहते हुए आगे बढ़ रहे हैं. इस दौरान रास्ते में दो बार पुलिस बैठी मिलती है. लेकिन किसी पुलिसवाले ने उन लोगों को रोकने की जहमत तक नहीं उठाई और न उनसे कोई सवाल जवाब किया.दोनों शख्स जब रिंकू शर्मा के घर के पास पहुंचते हैं तो वहां बैठे एक पुलिस वाले के पैर छू लेते हैं. हालांकि इस दौरान भी गाली देना जारी रखते हैं. पुलिस वाले भी उन्हें रोकते नहीं और वे आगे बढ़ कर मंगोलपुरी के हिंदुओं को धिक्कारते और मुसलमानों को धमकाते रहते हैं. इस वीडियों में जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया गया है वो इतनी भद्दी और आपत्तिजनक है कि हम इसे आपको दिखा नहीं सकते. बस कुछ बातें बता सकते हैं, जो इस वीडियो में कही गईं.

‘खून का बदला खून से लेंगे. दिल्ली के सीएम केजरीवाल को हम कहना चाहते हैं कि अगर गुनहगारों को फांसी पर नहीं चढ़ाया तो तुमको भी देख लेंगे. ये लास्ट बार है जो हम ऐसे कह के जा रहे हैं. सुनो मंगोलपुरी के हिंदुओं जाग जाओ, वरना बहुत गलत हो जाएगा. केजरीवाल मैं दिल्ली में खड़ा हो कर कह रहा हूं कि अगर मेरे भाई को न्याय नहीं मिला तो बहुत बुरा होगा. हम अगर शाहीन बाग के लिए दिल्ली जला सकते हैं तो रिंकू भाई के लिए भी आग लगा सकते हैं.’

इन दोनों लोगों के मंगोलपुरी में घुस कर 7 मिनट तक बेधड़क अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने के बाद वीडियो में दिल्ली पुलिस की एंट्री होती है. बहुत ही शरीफाना तरीके से. वीडियो में दिख रहा है कि थ्री स्टार एसएचओ इन दो लोगों के पास पहुंचते हैं और बहुत प्यार से बात करना शुरू करते हैं.

पुलिस अधिकारी (धीरे से आकर एक शख्स के कंधे पर हाथ रखते हुए) – हो गया न, अब चलिए.

इस पर वो शख्स कहता है – नहीं सर हम बहुत दुखी हैं. ये दुख हम बर्दाश्त नहीं कर सकते. हमारा एनकाउंटर कर दो, गोली मार दो.

पुलिस अधिकारी (प्यार से) – सुनो मेरी बात, ये तरीका गलत है.

इसके बाद एक शख्स जोर-जोर से मुसलमानों को भला-बुरा कहना शुरू करता है. दिल्ली पुलिस के अधिकारी 1 मिनट तक कमर पर हाथ रख कर उन्हें देखते रहते हैं.

पुलिस अधिकारी कुछ देर बाद एक शख्स के कंधे पर हाथ रखते हुए उसे समझाते हुए कहते हैं – क्या हिंदू धर्म में ऐसा ही सिखाते हैं?

इसके बाद भी दोनों शख्स गालियां देना जारी रखते हैं और रिंकू शर्मा के घर के अंदर दाखिल होते हैं. वे रिंकू शर्मा के घर पर जाकर भी उकसाने वाली बातें कहना जारी रखते हैं. इस दौरान भी कोई पुलिसवाला उन्हें रोकता-टोकता नजर नहीं आता.

वीडियो से पता चलता है कि इन दोनों लोगों में से एक का नाम सुरेश राजपूत है, जो टी-शर्ट पहने अपने साथी को मलिक कहकर बुलाता है. गूगल करने पर पता चलता है कि सुरेश राजपूत सोशल मीडिया पर भड़काऊ बयानबाजी करता रहता है. ट्विटर पर वो ‘@SureshHinduBoy’, फेसबुक पर ‘Suresh Hindu Boy’ और यूट्यूब पर ‘Hindu Sher Boy’ के नाम के साथ एक्टिव है. यूट्यूब पर सुरेश लगातार पाकिस्तान और मुसलमानों के खिलाफ जहर उगलने वाले वीडियो पोस्ट करता रहता है. इसमें कई वीडियो ऐसे भी हैं, जिनमें काफी उग्र भाषा का इस्तेमाल किया गया है. दूसरे शख्स के नाम का पता चल सका है. हमें उसका कोई सोशल मीडिया प्रोफाइल नजर नहीं आया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *