मुजफ्फरनगर में 300 साल पुरानी मस्जिद पर योगी सरकार ने चलाया बुलडोजर

14

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जनपद में स्थित 709 ए.डी पानीपत खटीमा राष्ट्रीय राजमार्ग पर इस समय चौड़ीकरण का कार्य चल रहा है… जिसके चलते इस कार्य में बाधा बन रहे सदर तहसील के अंतर्गत आने वाले शेरनगर गांव में, स्थित एक 300 साल पुराने धार्मिक स्थल को जिला प्रशासन द्वारा बुलडोजर चलवा कर धराशाई करवा दिया गया।

दरअसल पानीपत खटीमा राष्ट्रीय राजमार्ग के चौड़ीकरण का कार्य जनपद में इस समय जोरो पर चल रहा है। जिसके चलते सदर तहसील के शेर नगर गांव में स्थित एक 300 साल पुरानी मस्जिद इस कार्य के बीच में बाधा बन रही थी। जिसको लेकर जिला प्रशासन द्वारा मस्जिद के लोगों को कई बार इसे हटवाने के लिए कहा भी गया था लेकिन। जब उनके द्वारा इस मस्जिद को नहीं हटाया गया तो मजबूरन जिला प्रशासन द्वारा ग्राम समाज की जमीन पर 1020 वर्ग मीटर में बनी मस्जिद को बुलडोजर द्वारा धराशाही करवा दिया गया।

एसडीएम सदर परमानंद झा ने जानकारी देते हुए बताया कि हाईवे के किनारे बने सभी अवैध निर्माण चाहे जिसमें मंदिर हो या मस्जिद सभी को हटाने का नोटिस दिया गया था। लेकिन बावजूद इसके किसी ने धार्मिक स्थल हाईवे से नहीं हटाए। इसलिए अब हाईवे के किनारे बने सभी धार्मिक स्थलों को प्रशासन द्वारा हटाया जा रहा है। वहीं लोगों का कहना है कि पानीपत खटीमा राजमार्ग पर बनी ये मजार मुजफ्फरनगर के जमीदार रहे मुजफ्फर अली की मजार है जो 300 वर्ष पुरानी है। मजार के पीछे इबादत के लिए मस्जिद भी बनाई गई थी। जिसे जिला प्रशासन ने चार जेसीबी मशीन और दो बुलडोजर से जमींदोज कर दिया।