Lonavala Bhushi Dam: एक ही मुस्लिम परिवार के पांच लोगों की बहने से मौत,मौज मस्ती तो ठीक है लेकिन परिवार के साथ मौत को दावत क्यों देना? खौफनाक VIDEO देख हिल जाएंगे

37

पुणे के लोनावला में पानी के तेज बहाव में एक परिवार के कुछ सदस्य बह गए थे, जिसमें तीन की मौत हो गई. इनके अलावा दो बच्चों की तलाश करने के लिए सर्च अभियान चलाया जा रहा था लेकिन रात होने की वजह से ऑपरेशन रोकना पड़ा है. बताया जा रहा है कि पानी की तेज धारा में दस लोग फंस गए थे लेकिन पांच लोग अपनी जान बचाने में कामयाब रहे.

पुणे जिले के लोनावला में पहाड़ी इलाके में झरने के पास बारिश का आनंद ले रहे एक परिवार ने अपनी जान जोखिम में डाल दी. पुणे के हडपसर के पांच लोग झरने के पानी के बहाव में बह गए, जिनमें तीन की मौत हो गई और दो की तलाश जारी है. उनकी तलाश की गई लेकिन रात होने की वजह से सर्च ऑपरेशन रोक दिया गया है. पुणे पुलिस के मुताबिक, हडपसर इलाके के लियाकत अंसारी और यूनुस खान अपने परिवार के 17-18 सदस्यों के साथ बारिश के मौसम का आनंद लेने लोनावला गए थे. दोनों परिवार इस सुदूर इलाके में झरने के पास थे. यह झरना भुशी डैम के पीछे स्थित है. पहाड़ी इलाका होने की वजह से इस क्षेत्र में बहुत कम ही लोग आते हैं और कोई भी वहां जाने की कोशिश नहीं करता.

पानी की तेज बहाव में फंस गए थे दस लोग

अंसारी और खान परिवार एक-दूसरे के साथ मानसून का आनंद ले रहे थे. परिवार जिस झरने पर रुका था, वहां पिछले दो-तीन दिनों की भारी बारिश की वजह से पानी का बहाव अचानक तेज हो गया. बताया जाता है कि पानी की तेज धारा में दस लोग फंस गए थे. उनमें से पांच लोग अपनी जान बचाने में कामयाब रहे और तेज धारा के बीच वह निकल गए. इसी बीच पांच लोग पानी की तेज बहाव में ही फंस गए और उसके साथ ही बह गए.

शाहिस्ता अंसारी अपने बच्चों के साथ पानी में बह गईं

दरअसल, 36 वर्षीय शाहिस्ता लियाकत अंसारी अपने बच्चों के साथ पानी की तेज बहाव में फंस गई थीं, जो पानी की तेज धारा के साथ बह गई थी, जहां उन्होंने अपनी जान गंवा दी. इसमें 13 वर्षीय अमीमा अंसारी और आठ वर्षीय उमेरा सलमान भी शामिल थी, जिनकी मौत हो गई. वहीं चार वर्षीय अदनान अंसारी और 9 वर्षीय मारिया अंसारी को ढूंढने के लिए तलाशी अभियान चलाया गया लेकिन रात तक उनका कुछ पता नहीं चला और सर्च अभियान रोकना पड़ा.

डॉक्टर ने सीपीआर देकर बचाई एक लड़की की जान

दस लोगों के फंसने के बाद पांच लोग पानी के बहाव से बाहर निकलने में कामयाब रहे थे, जिनमें से एक छोटी बच्ची को दो डॉक्टरों ने सीपीआर देकर उसकी जान बचाई, जो पर्यटन के लिए उसी झरने पर आई थी.

पुलिस की पर्यटकों से अपील

बरसात के मौसम में लोनावला, खंडाला इलाके में आने वाले पर्यटक से अनजान जगहों पर न जाने की अपील की गई है. पुलिस ने अपील की है कि लोग अपनी और अपने परिवार की जान जोखिम में न डालें. लोनावाला पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सुहास जगताप ने पर्यटकों से भुशी बांध क्षेत्र, झील, टाटा बांध, तुंगारली बांध, राजमाची पॉइंट में पुलिस प्रशासन के साथ सहयोग करने की अपील की है.

भुशी बांध के पीछे पहाड़ों में कई झरने बहते हैं

भुशी बांध (डैम) के पीछे एक पहाड़ है. उस पर्वत से कई झरने बहते हैं. झरने से पानी का प्रवाह सीधे भुशी बांध तालाब में आता है. भुशी बांध भी आज लबालब हो गया है और रविवार होने के कारण भुशी बांध पर पर्यटकों की भीड़ उमड़ पड़ी है