Pakistani talk showपाकिस्तानी टॉक शो में गूंजा नागपुर, गिनाई गईं शहर की खासियतें

70

नागपुर. इन दिनों सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो ने शहरवासियों को अपने नागपुर पर गर्व करने का मौका दिया है. वास्तव में पाकिस्तानी के टॉक शो खबरयार पर नागपुर का जिक्र किया गया. खास बात रही कि शो में मौजूद मेहमानों और दर्शकों को शहर की खासियतों के बारे में बताया गया. कई खासियतों पर हैरान मेहमानों द्वारा एंकर से सवाल भी किये जाते हैं जिनका जवाब में भी खासियतों के साथ ही दिया जाता है. उल्लेखनीय है कि खबरयार पाकिस्तान के पसंदीदा टॉक शो में गिना जाता है. शो में हास्य के माध्यम से विभिन्न प्रकार की जानकारी दी जाती है. इसी बीच भारत और पाकिस्तान के शहरों पर हुए स्पेशल शो में नागपुर के बारे में जानकारियां दी गईं.

किन-किन खासियतों का हुआ बयान

– नागपुर महाराष्ट्र में मुंबई और पुणे के बाद तीसरा बड़ा शहर है

– यह महाराष्ट्र की विंटर कैपिटल है.

– यहां की 30 लाख है और इस हिसाब से यह भारत में 13वें नंबर पर आता है.

– इनमें 70 प्रश हिंदू हैं और बाकी बुद्धिस्ट व मुस्लिम आदि हैं.

– यहां शिक्षा दर 92 प्रतिशत से ऊपर है.

– इस शहर को ऑरेंज सिटी कहा जाता है. 

(मेहमान का सवाल: ऐसा क्यों? एंकर : क्योंकि यहां संतरा बहुत ज्यादा होता है और काफी फेमस है.)

– इसे टाइगर कैपिटल भी कहा जाता है.

(मेहमान : क्यों?, एंकर : क्योंकि यहां काफी सारे टाइगर रिजर्व हैं.)

– यहां आईटी पार्क भी है.

(एंकर : शिक्षा दर ऐसे ही 92 फीसद नहीं है.)

– यह भारत के बीचोंबीच बसा हुआ है यहां आज भी जीरो माइल है.

(मेहमान : यह माना जाता था कि जियोग्राफिकली यह इंडिया का सेंटर है. हालांकि साइंटिफिक रूप से ऐसा नहीं कहा जा सकता. 

एंकर : कहा जाता है कि इस जीरो माइल से ही अन्य शहरों से दूरियों का जीरो शुरू होता है.)

– नागपुर इंडिया के बेहतरीन और साफ-सुथरे शहरों में शामिल है. 

– इसकी बुनियाद बख्त बुलंद शाह ने 12 गांव मिलाकर रखी थी. 1702 में यानी 18वीं सदी के बिल्कुल शुरू में.

(मेहमान : ये हिंदू थे लेकिन औरंगेजब के दौर में उन्होंने इस्लाम कबूल किया.)

– आरएसएस का हेड ऑफिस भी यहां बना हुआ है.

(मेहमान : आरएसएस दुनिया की सबसे बड़ी वॉलेन्ट्री (स्वैच्छिक) नॉन गवर्मेंट आर्गेनाइजेशन है. 60 लाख से ज्यादा लोग इससे जुड़े हुए हैं. बीजेपी इसकी पॉलिटिकल विंग है.)

(मेहमान : तो इसका नाम नागपुर कैसे हुआ. 

एंकर : एक नदी शहर के बीच से गुजरती है जिसका नाम नाग नदी है. इसलिए इसका नाम नागपुर रखा गया.)

कई लोकेशनों की तस्वीरें भी झलकीं

शो के दौरान सिटी के कई दर्शनीय स्थानों की तस्वीरों की झलक भी दिखाई गई. इनमें पुराने नागपुर के जीरो माइल से लेकर नये नागपुर के सदर फ्लाइओवर, दीक्षाभूमि और स्वामी नारायण मंदिर, नाग नदी से लेकर मेट्रो ब्रिज और एयरपोर्ट मेट्रो स्टेशन की तस्वीर भी शामिल है. इसके साथ ही अधिकांश समय नागपुर की हरियाली स्क्रीन पर दिखाई गई है.