फ्री मेडिकल कैंप” में 350 रोगियों ने उठाया लाभ (कैंप का आयोजन मेडिकल सर्विस सोसायटी नागपुर, जमाअ़त ए इस्लामी हिंद नागपुर साउथ एवं द मेट्रो मल्टी स्पेशलिटी क्लीनिक ने किया था)

53

नागपुर – इस्लाम में रोगी सेवा , उसके महत्व और नैतिक एवं कानूनी पहलूओं को उजागर किया है। इसलिए रोगियों के उपचार के प्रति चिकित्सकों का नैतिक कर्तव्य बनता है कि वे बड़ी ज़िम्मेदारी से उनका उपचार भी करें और मानव जाति को प्रत्येक प्रकार की बीमारियों से सुरक्षित रखने की हिदायत भी दें । ये विचार मेडिकल सर्विस सोसाइटी नागपुर के अध्यक्ष डॉ नईम नियाज़ी ने कैंप में चिकित्सकों के सामने व्यक्त किए। यह फ्री मेडिकल कैंप मेडिकल सर्विस सोसायटी नागपुर, जमाअ़त ए इस्लामी हिंद नागपुर साउथ एवं द मेट्रो मल्टी स्पेशलिटी क्लीनिक के संयुक्त तत्वावधान में तिड़़के भवन चौक, सी.रोड, हज हाउस के पास स्थित “द मल्टी स्पेशलिटी क्लिनिक” में आयोजित किया गया था। इस अवसर पर उन्होंने आगे कहा कि सैयदना अली रज़ि से वर्णित है कि वास्तविक ज्ञान दो ही हैं , न्यायशास्त्र का ज्ञान ताकि जीवन जीने की सुगम रीत ज्ञात हो और चिकित्सा का ज्ञान ताकि मानव शरीर बीमारियों से सुरक्षित और स्वस्थ रहे ।


इस से पूर्व फ्री मेडिकल कैंप का उद्घाटन गणेश पेठ थाने के पीआई अरविंद महर्षि तथा समाज सेवक एवं कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के युवा नेता वसीम ख़ान द्वारा किया गया । इस कैंप में प्रमुख अतिथियों तथा चिकित्सकों का सत्कार भी मोमेंटो एवं शाल देकर किया गया।
इस कैंप में बीएमडी टैस्ट (हड्डियों की जांच) ,ब्लड टेस्ट, शुगर एवं ईसीजी , मेडिकल टैस्ट निशुल्क किए गए थे ।
इस फ्री मेडिकल कैंप में लगभग 350 रोगियों ने इस कैंप से लाभ उठाया।
इस फ्री मेडिकल कैंप में डॉ आसिफ़ कुरेशी , डॉ मुस्तफा अली (पीडियाट्रिशियन) डॉ सोहेल एम ख़ान (ऑर्थोपेडिक एंड स्पाइन सर्जन), डॉ मीरा (गाइनेकोलॉजिस्ट), डॉ अरशद ख़ान , क्रिसेंट हॉस्पिटल के डॉक्टर काशिफ़ सैयद (कार्डियोलॉजिस्ट) , डॉ हादिका खान (डेंटिस्ट), डॉ रियाज़ आमिर (स्किन स्पेशलिस्ट) , डॉआयशा ख़ान (फिजियोथेरापिस्ट) तथा मेडिकल सर्विस सोसाइटी नागपुर के अध्यक्ष डॉ नईम नियाज़ी ने मूल्यवान सेवाएं दीं।


मेडिकल सर्विस सोसायटी नागपुर (एमएसएस) की ओर से इस कैंप में औषधियां उपलब्ध कराई गईं थीं।
कैंप में “मेडिकल गाइडेंस सेंटर नागपुर” के प्रतिनिधियों ने रोगियों का मार्गदर्शन भी किया था। डायबीटिक रोगी रमज़ान कैसे गुज़ारे इस पर भी मार्ग दर्शन किया गया था ।


कैंप को सफल बनाने में डाएग्नोवा लैब एवं जमाअ़त ए इस्लामी हिंद नागपुर (साउथ) की महिला विभाग की बहनों ने भी बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया।