ट्रेन में मुसलमानों ने नमाज़ पढ़ी तो जांच बैठ गईं हैं, AIIMS में दिवाली पर भजन हुआ तो कोई कार्यवाही नहीं

38

हिंदुस्तान में पुलीस प्रशासन के आजकल दो चेहरे देखने को मिल रहें हैं, एक वह चेहरा जो मुस्लिमों को खुले में नमाज़ पढ़ता देख तुरंत जांच शुरू कर देता हैं और एक वह चेहरा जो हिंदुओं की खुले में पूजा एवं गरबा करने पर आंखे बंद कर लेता हैं।

ताज़ा मामला उत्तर प्रदेश और दिल्ली का हैं. एक वीडियो उत्तर प्रदेश के कुशीनगर का हैं जिसमें सत्याग्रह एक्सप्रेस में सवार कुछ मुस्लिम ट्रेन में नमाज़ पढ़ रहें हैं।

इस वीडियो के वायरल होने के बाद उत्तर पूर्व रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह ने बताया, ‘ट्रेन के डिब्बे में नमाज पढ़ने वाली वीडियो की सत्यता की जांच की जा रही है. रेलवे पुलिस से मामले की जांच करने को कहा गया है. इस मामले के बारे में अगर कोई लिखित शिकायत मिलती है तो एफआईआर दर्ज की जाएगी।
वहीं दूसरी वीडियो AIIMS की बताई जा रहीं हैं जिसमें लोगों की भीड़ दिवाली के अवसर पर AIIMS की बिल्डिंग में भजन कर रहीं हैं. इस वीडियो को डॉक्टर विनय कुमार ने शेयर करते हुए लिखा कि, “मेरी आपकी कृपा से सब काम हो रहा है।”

आपको बता दें कि, इस वीडियो पर न तो अभी तक किसी ने संज्ञान लिया हैं और न ही जांच के आदेश हुए हैं।

AIIMS की वीडियो पर आरएलडी नेता प्रशांत कनौजिया ने कहा कि, अभी सरकारी इमारत में कोई नमाज़ पढ़ लेता तो उसपर मुक़दमा दर्ज होता और गिरफ्तारी होती. आमजनमानस को दिक्कत पैदा करने का मुकदमा दर्ज होता लेकिन मुसलमान तो दोयम दर्जे का नागरिक है क़ानून उसके लिए अलग है।