मस्जिद का गेट नहीं खोला तो दंगाइयों ने चला दी गोलियां

27

गुड़गांव,(ब्यूरो): गुड़गांव की देवीलाल नगर में उस वक्त हड़कंप मच गया जब होली की रात को स्कॉर्पियो सवार बदमाशों ने मस्जिद के बाहर गोली चला दी। गोली चलने की आवाज सुनकर जब लोग घर से बाहर निकले तो आरोपी फरार हो गए। वारदात की सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरू कर दी। पुलिस ने यहां लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज कब्जे में ली है। पुलिस का कहना है कि गाड़ी नंबर के आधार पर आरोपियों की तलाश की जा रही है। जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 

चश्मदीद की मानें तो सोमवार देर रात करीब पौने 11 बजे एक स्कॉर्पियो गाड़ी देवी लाल नगर की गली नंबर 9 में पहुंची और गली में मुड़ने लगी, लेकिन एक मकान के बाहर बनी थली पर चढ़ने की बजाय गाड़ी रुक गई। चश्मदीद अब्दुल हफीज की मानें तो स्कॉर्पियो सवार ने उन्हें गाड़ी के आगे पत्थर होने की बात कहकर पत्थर हटाने के लिए कहा। जब अब्दुल हफीज ने उसे पत्थर न होने की बात कही तो स्कॉर्पियो सवार ने गाड़ी को पीछे करके दोबारा गाड़ी थली पर चढ़ा दी। इस पर मकान मालिक नीचे उतर आया। आरोप है कि स्कॉर्पियो सवार ने अपनी गाड़ी को रोका और उसमें से दो युवक उतरकर आए और मस्जिद का गेट खुलवाने का प्रयास करने लगे। इस पर उन्होंने मस्जिद का गेट सुबह खुलने की बात कही तो वह भड़क गए और अभद्रता करते हुए वापस जाने लगे। आरोप है कि एक युवक ने पहले उनके कंधे पर हाथ रखा और गोली मारने की बात कहते हुए अचानक गोली चला दी जिसके बाद वह मौके से फरार हो गए।

वारदात के बाद आरोपी फरार हो गए। वहीं, गोली चलने की आवाज सुनकर लोग घर से बाहर आ गए और पुलिस को इसकी सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने यहां लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज को कब्जे में ले लिया है। पुलिस की मानें तो सीसीटीवी कैमरे में स्कॉर्पियो गाड़ी आते हुए दिखाई दे रही है जो कुछ देर के लिए गेट के पास रुकी है। इसमें से दो युवक निकलकर आए हैं जो सीसीटीवी कैमरे में दिखाई दिए हैं। मौके से गोली का खोल भी बरामद कर लिया गया है।

सेक्टर-9 थाना प्रभारी इंस्पेक्टर रामबीर ने बताया कि मामले में पुलिस ने शिकायत के आधार पर जांच शुरू कर दी है। पुलिस का कहना है कि जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। आपको बता दें कि यह कोई पहला मामला नहीं है बल्कि इससे कुछ दिन पहले मस्जिद के पास एक घर पर कुछ शरारती तत्वों द्वारा दो घरों पर पत्थराव कर माहौल खराब करने का प्रयास किया गया था। मामले में पुलिस ने केस तो दर्ज कर लिया था, लेकिन इस तरह की वारदातों को अंजाम देने वालों पर अंकुश लगा पाना पुलिस नियंत्रण से बाहर होता नजर आ रहा है। अब देखना यह होगा कि पुलिस कब तक इन आरोपियों काे गिरफ्तार कर पाती है।