सालभर बाद जेल से रिहा होते ही बोले अनिल देशमुख, मेरे खिलाफ लगाए गए आरोप निराधार हैं

18

मुंबई, एजेंसी। Anil Deshmukh Released: महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के नेता अनिल देशमुख बुधवार की शाम जमानत पर जेल से बाहर आ गए। मुंबई की आर्थर रोड जेल से बाहर आने के तत्काल बाद अनिल देशमुख ने कहा कि उनके ऊपर लगाए गए आरोप निराधार हैं।

मेरे खिलाफ नहीं है कोई सबूत

संवाददाताओं से बातचीत में अनिल देशमुख ने बताया कि तत्कालीन मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने अदालत में दायर एक हलफनामे में कहा है कि मेरे खिलाफ लगाए गए आरोप अफवाह पर आधारित हैं और उनके पास मेरे खिलाफ कोई सबूत नहीं है।

एनसीपी नेताओं ने किया जोरदार स्वागत

73 वर्षीय अनिल देशमुख का एनसीपी पार्टी नेताओं ने आर्थर रोड जेल से शाम करीब 4 बजकर 45 मिनट पर बाहर निकलने पर स्वागत किया। इस दौरान अजित पवार, जयंत पाटिल, सुप्रिया सुले, दिलीप वाल्से पाटिल, छगन भुजबल समेत पार्टी के कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहे। इसी बीच अनिल देशमुख ने कोर्ट के फैसले पर विश्वास जताते हुए कहा कि मुझे न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है… हाई कोर्ट ने देखा है कि मुझे एक झूठे मामले में फंसाया गया था।

ईडी ने किया था गिरफ्तार

अनिल देशमुख को एक कथित धनशोधन मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने नवंबर 2021 में गिरफ्तार किया था और वो एक साल से जेल में बंद थे। आपको बता दें कि बॉम्बे हाई कोर्ट ने केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा दर्ज भ्रष्टाचार के एक मामले में अनिल देशमुख को जमानत देने के अपने आदेश पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था। जिसके बाद अनिल देशमुख जमानत पर रिहा हो सके।